rel='stylesheet'/>

डोभी में छात्रों ने किया चक्का जाम

डोभी में छात्रों ने किया चक्का जाम
कुल्लू में हुए बंजार हादसे के बाद आम आदमी की दिक्कतें बढ़ती जा रही हैं। छात्रों द्वारा जगह जगह किए जा रहे विरोध प्रदर्शन के कारण यातायात अवरुद्ध हो रहा है जिसका खमियाजा बाहरी राज्यों व विदेशों से आए पर्यटकों को भुगतना पड़ रहा है।

मार्किंग के बाद शुरू होगी मकानों की लिस्टिंग और जनगणना कार्य

मार्किंग के बाद शुरू होगी मकानों की लिस्टिंग और जनगणना कार्य
जनगणना कार्य के संयुक्त रजिस्ट्रार जनरल एवं वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अभिषेक जैन ने कुल्लू जिला के सभी तहसीलदारों और नगर निकायों के कार्यकारी अधिकारियों को जनगणना से संबंधित मानचित्रों की मार्किंग जल्द पूरी करने के निर्देश दिए हैं। सोमवार

देवदर्शन न्यूज कुल्लू (जसपाल)

देवदर्शन न्यूज कुल्लू (जसपाल)
थाना पतलीकूहल के अंतर्गत पुलिस ने चरस तस्करी के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया है। पतलीकूहल पुलिस ने अभी तक 13 मामले मादक पदार्थ अधिनियम के अंतर्गत दर्ज किए है।जो कि एक बड़ी सफलता है।

बड़ी ख़बरें

बड़ी ख़बरें/module

हिमाचल

himachal/module

कुल्लू

कुल्लू/style

शिमला

शिमला/style

Recent Posts

कुल्लू में मीडिया विश्राम कक्ष का उदघाटन

कुल्लू में मीडिया विश्राम कक्ष का उदघाटन


-नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन देगा पत्रकारों को सुविधा

देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू
पत्रकारों की सुविधा के लिए जहां प्रेस क्लब भवन बनकर तैयार हो गया है और सीएम ने इसका विधिवत उदघाटन किया है वहीं इसके अतिरिक्त फूड कोर्ट के सामने मीडिया विश्राम कक्ष भी अब मीडिया के लिए मौजूद रहेगा। शनिवार को नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन के बैनर तले मीडिया विश्राम गृह का विधिवत उदघाटन किया गया। यह उदघाटन जिला लोक संपर्क अधिकारी प्रेम ठाकुर के कर कमलों द्वारा किया गया। इस अवसर पर मीडिया मंच के प्रदेश अध्यक्ष श्याम कुल्वी,प्रेस क्लब के वाइस चेयरमैन आशीष शर्मा सहित तमाम पदाधिकारी मौजूद रहे। सबसे पहले नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन व प्रेस क्लब  के पदाधिकारियों संतोष धीमान,बाल कृष्ण शर्मा,सुरेश शर्मा,आशीष शर्मा,मुनीश ठाकुर,अजय ठाकुर,क्रिस ठाकुर,शालिनी राय, रेणुका गौतम,नीना गौतम, राजेश शर्मा,हिमानी,संदीप शर्मा आदि ने मुख्यातिथि प्रेम ठाकुर व विशेष अतिथि श्याम कुल्वी का हार्दिक स्वागत किया। इसके बाद मीडिया विश्राम गृह का विधिवत शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर मुख्यातिथि प्रेम ठाकुर ने कहा कि लोकतंत्र का चौथा स्तंभ आज लेखनी के अलावा समाज सेवा में भी बढ़चढ़ कर भाग ले रहा है। उन्होंने कहा कि मीडिया विश्राम गृह बाहर से  आने बाले पत्रकारों के लिए ठहरने का एक अच्छा माध्यम होगा। उन्होंने कहा कि कुल्लू मनाली में पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है और ऐसे में रहने व ठहरने के लिए पत्रकारों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है लेकिन इस तरह के प्रयासों से पत्रकारों को सुविधाएं प्रदान होगी। इस अवसर पर विशेष अतिथि श्याम कुल्वी ने कहा कि मीडिया के क्षेत्र में ऐसे प्रयास सराहनीय है और हर मीडिया संस्थानों व लोगों को ऐसे प्रयास करने चाहिए।

-नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन देगा पत्रकारों को सुविधा

देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू
पत्रकारों की सुविधा के लिए जहां प्रेस क्लब भवन बनकर तैयार हो गया है और सीएम ने इसका विधिवत उदघाटन किया है वहीं इसके अतिरिक्त फूड कोर्ट के सामने मीडिया विश्राम कक्ष भी अब मीडिया के लिए मौजूद रहेगा। शनिवार को नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन के बैनर तले मीडिया विश्राम गृह का विधिवत उदघाटन किया गया। यह उदघाटन जिला लोक संपर्क अधिकारी प्रेम ठाकुर के कर कमलों द्वारा किया गया। इस अवसर पर मीडिया मंच के प्रदेश अध्यक्ष श्याम कुल्वी,प्रेस क्लब के वाइस चेयरमैन आशीष शर्मा सहित तमाम पदाधिकारी मौजूद रहे। सबसे पहले नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन व प्रेस क्लब  के पदाधिकारियों संतोष धीमान,बाल कृष्ण शर्मा,सुरेश शर्मा,आशीष शर्मा,मुनीश ठाकुर,अजय ठाकुर,क्रिस ठाकुर,शालिनी राय, रेणुका गौतम,नीना गौतम, राजेश शर्मा,हिमानी,संदीप शर्मा आदि ने मुख्यातिथि प्रेम ठाकुर व विशेष अतिथि श्याम कुल्वी का हार्दिक स्वागत किया। इसके बाद मीडिया विश्राम गृह का विधिवत शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर मुख्यातिथि प्रेम ठाकुर ने कहा कि लोकतंत्र का चौथा स्तंभ आज लेखनी के अलावा समाज सेवा में भी बढ़चढ़ कर भाग ले रहा है। उन्होंने कहा कि मीडिया विश्राम गृह बाहर से  आने बाले पत्रकारों के लिए ठहरने का एक अच्छा माध्यम होगा। उन्होंने कहा कि कुल्लू मनाली में पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है और ऐसे में रहने व ठहरने के लिए पत्रकारों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है लेकिन इस तरह के प्रयासों से पत्रकारों को सुविधाएं प्रदान होगी। इस अवसर पर विशेष अतिथि श्याम कुल्वी ने कहा कि मीडिया के क्षेत्र में ऐसे प्रयास सराहनीय है और हर मीडिया संस्थानों व लोगों को ऐसे प्रयास करने चाहिए।

बंजार-आनी में गीत-संगीत से दिया आपदा प्रबंधन का संदेश

बंजार-आनी में गीत-संगीत से दिया आपदा प्रबंधन का संदेश


देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
आम लोगों को आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुक करने तथा किसी भी तरह की आपदा के खतरों और उनसे होने वाले नुक्सान को कम करने के लिए कुल्लू जिला में 15 से 30 अक्तूबर तक चलाए जा रहे विशेष कार्यक्रम समर्थ-2019 के तहत गीत-संगीत और नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से भी लोगों को आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुक किया जा रहा है। समर्थ-2019 कार्यक्रम जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के माध्यम से चलाया जा रहा है। इसी अभियान के तहत सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से संबद्ध गीत संगीत कला मंच बंजार के लोक कलाकारों ने वीरवार को आनी और नित्थर में गीत-संगीत एवं नुक्कड़ नाटक से लोगों को आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुक किया। गीत संगीत कला मंच के अध्यक्ष रमेश कुमार ने बताया कि बुधवार को इन्हीं लोक कलाकारों ने सैंज और बंजार में भी जागरुकता कार्यक्रम प्रस्तुत किए। 

देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
आम लोगों को आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुक करने तथा किसी भी तरह की आपदा के खतरों और उनसे होने वाले नुक्सान को कम करने के लिए कुल्लू जिला में 15 से 30 अक्तूबर तक चलाए जा रहे विशेष कार्यक्रम समर्थ-2019 के तहत गीत-संगीत और नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से भी लोगों को आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुक किया जा रहा है। समर्थ-2019 कार्यक्रम जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के माध्यम से चलाया जा रहा है। इसी अभियान के तहत सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से संबद्ध गीत संगीत कला मंच बंजार के लोक कलाकारों ने वीरवार को आनी और नित्थर में गीत-संगीत एवं नुक्कड़ नाटक से लोगों को आपदा प्रबंधन के प्रति जागरुक किया। गीत संगीत कला मंच के अध्यक्ष रमेश कुमार ने बताया कि बुधवार को इन्हीं लोक कलाकारों ने सैंज और बंजार में भी जागरुकता कार्यक्रम प्रस्तुत किए। 

रेडक्राॅस सोसायटी के सभी सदस्य अपने क्षेत्र में एक सरकारी स्कूल गोद लेकर उसे माॅडल स्कूल बनाने में करें सहयोगः डाॅ. साधना

रेडक्राॅस सोसायटी के सभी सदस्य अपने क्षेत्र में एक सरकारी स्कूल गोद लेकर उसे माॅडल स्कूल बनाने में करें सहयोगः डाॅ. साधना



देवदर्शन न्यूज़ शिमला 
हिमाचल प्रदेश रेडक्राॅस अस्पताल कल्याण अनुभाग की बैठक रेडक्राॅस की प्रदेश अध्यक्षा डाॅ. साधना ठाकुर की अध्यक्षता में हुई। इस अवसर पर गत बैठक की समीक्षा की गई और समिति के सदस्यों द्वारा रेडक्राॅस की गतिविधियों के सम्बन्ध में विभिन्न अस्पतालों के किए गए दौरों की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। बैठक में रेडक्राॅस के माध्यम से लगाए जाने वाले वार्षिक मेले की आय-व्यय का ब्यौरा भी प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर डाॅ. साधना ठाकुर ने कहा कि रेडक्राॅस के माध्यम से जरूरतमंद लोगों को उपलब्ध करवाई जाने वाली दवाईयों के बारे में सभी सदस्य आईजीएमसी के चिकित्सा अधीक्षक से सम्पर्क करें, ताकि रेडक्राॅस के माध्यम से सही दवाईयां जरूरतमंद लोगों को उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद लोगों को जनऔषधी केन्द्रों से अधिक से अधिक दवाईयां दिलाई जाएं। उन्होंने सभी सदस्यों से आह्वान किया कि अपने क्षेत्र में एक सरकारी स्कूल को गोद लें और उसे रेडक्राॅस के माध्यम से माॅडल स्कूल बनाने के लिए कार्य किया जाए जिसके लिए सम्बन्धित स्कूल में स्वच्छता, नशे के प्रति जागरूकता, डेंटल हाईजीन इत्यादि के बारे में बच्चों को जागरूक किया जाए। गोद लिए जाने वाले स्कूलों के बार-बार दौरे कर उनमें चलाई जाने वाली विभिन्न गतिविधियों को रिकाॅर्ड भी किया जाए, ताकि उन्हें माॅडल स्कूल के रूप में विकसित किया जा सके। स्कूलों में बच्चों के साथ उनके माता-पिता की भी काउंसलिंग की जाए, ताकि बच्चों की रूचि के अनुसार उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जा सके। उन्होंने रेडक्राॅस समिति के सदस्यों से आह्वान किया कि स्कूलों में जाकर वहां पाई जाने वाली विभिन्न समस्याओं की पहचान करें और उनका रेडक्राॅस के माध्यम से समाधान करने का प्रयास किया जाना चाहिए। किसी स्कूल में अध्यापकों की कमी पाई जाती है तो सम्बन्धित विषय विशेषज्ञ की सेवाएं स्कूलों में बच्चों को उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएं, ताकि बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो। स्कूलों में गरीब वर्ग के बच्चों की पहचान की जाए, ताकि रेडक्राॅस के माध्यम से उनकी समस्याओं का समाधान कर उनकी पढ़ाई पूरी करने में सहयोग किया जा सके और इस कार्य में गति लाई जाए। डाॅ. साधना ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के मेडिकल काॅलजों को पर्यावरण की दृष्टि से बेहतर बनाने के लिए विभिन्न मेडिकल काॅलजों में पौधारोपण अभियान के अंतर्गत मण्डी जिला के नेरचैक मेडिकल काॅलेज, हमीरपुर मेडिकल काॅलेज और कांगड़ा जिला के टांडा मेडिकल काॅलेज में विभिन्न औषधीय पौधों का रोपण किया गया है जिसमें पंचवटी के पौधों सहित विभिन्न प्रकार के लगभग 200 पौधें लगाए गए है। डाॅ. साधना ने कहा कि जिला स्तर पर लगाए जाने वाले रेडक्राॅस मेलों को जिला से बाहर निकालकर उप-मण्डल व ब्लाॅक स्तर पर आयोजित किया जाए ताकि इन मेलों को गांव तक पहंुचा जा सके। उन्होंने बताया कि जिला मण्डी में जिला स्तर पर मनाया जाने वाला रेडक्राॅस मेला इस वर्ष सुदंरनगर उप-मण्डल में मनाया जाएगा। उन्होंने सभी सदस्यों से रेडक्राॅस से अधिक से अधिक सदस्य जोड़ने का आहवान भी किया। इस अवसर पर राज्य रेडक्राॅस सोसायटी की उपाध्यक्षा फिरोजा विजय सिंह, अवैतनिक सचिव पूनम चैहान, सोसायटी के महासचिव पी.एस. राणा व अन्य सदस्य उपस्थित थे।


देवदर्शन न्यूज़ शिमला 
हिमाचल प्रदेश रेडक्राॅस अस्पताल कल्याण अनुभाग की बैठक रेडक्राॅस की प्रदेश अध्यक्षा डाॅ. साधना ठाकुर की अध्यक्षता में हुई। इस अवसर पर गत बैठक की समीक्षा की गई और समिति के सदस्यों द्वारा रेडक्राॅस की गतिविधियों के सम्बन्ध में विभिन्न अस्पतालों के किए गए दौरों की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। बैठक में रेडक्राॅस के माध्यम से लगाए जाने वाले वार्षिक मेले की आय-व्यय का ब्यौरा भी प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर डाॅ. साधना ठाकुर ने कहा कि रेडक्राॅस के माध्यम से जरूरतमंद लोगों को उपलब्ध करवाई जाने वाली दवाईयों के बारे में सभी सदस्य आईजीएमसी के चिकित्सा अधीक्षक से सम्पर्क करें, ताकि रेडक्राॅस के माध्यम से सही दवाईयां जरूरतमंद लोगों को उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद लोगों को जनऔषधी केन्द्रों से अधिक से अधिक दवाईयां दिलाई जाएं। उन्होंने सभी सदस्यों से आह्वान किया कि अपने क्षेत्र में एक सरकारी स्कूल को गोद लें और उसे रेडक्राॅस के माध्यम से माॅडल स्कूल बनाने के लिए कार्य किया जाए जिसके लिए सम्बन्धित स्कूल में स्वच्छता, नशे के प्रति जागरूकता, डेंटल हाईजीन इत्यादि के बारे में बच्चों को जागरूक किया जाए। गोद लिए जाने वाले स्कूलों के बार-बार दौरे कर उनमें चलाई जाने वाली विभिन्न गतिविधियों को रिकाॅर्ड भी किया जाए, ताकि उन्हें माॅडल स्कूल के रूप में विकसित किया जा सके। स्कूलों में बच्चों के साथ उनके माता-पिता की भी काउंसलिंग की जाए, ताकि बच्चों की रूचि के अनुसार उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जा सके। उन्होंने रेडक्राॅस समिति के सदस्यों से आह्वान किया कि स्कूलों में जाकर वहां पाई जाने वाली विभिन्न समस्याओं की पहचान करें और उनका रेडक्राॅस के माध्यम से समाधान करने का प्रयास किया जाना चाहिए। किसी स्कूल में अध्यापकों की कमी पाई जाती है तो सम्बन्धित विषय विशेषज्ञ की सेवाएं स्कूलों में बच्चों को उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएं, ताकि बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो। स्कूलों में गरीब वर्ग के बच्चों की पहचान की जाए, ताकि रेडक्राॅस के माध्यम से उनकी समस्याओं का समाधान कर उनकी पढ़ाई पूरी करने में सहयोग किया जा सके और इस कार्य में गति लाई जाए। डाॅ. साधना ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के मेडिकल काॅलजों को पर्यावरण की दृष्टि से बेहतर बनाने के लिए विभिन्न मेडिकल काॅलजों में पौधारोपण अभियान के अंतर्गत मण्डी जिला के नेरचैक मेडिकल काॅलेज, हमीरपुर मेडिकल काॅलेज और कांगड़ा जिला के टांडा मेडिकल काॅलेज में विभिन्न औषधीय पौधों का रोपण किया गया है जिसमें पंचवटी के पौधों सहित विभिन्न प्रकार के लगभग 200 पौधें लगाए गए है। डाॅ. साधना ने कहा कि जिला स्तर पर लगाए जाने वाले रेडक्राॅस मेलों को जिला से बाहर निकालकर उप-मण्डल व ब्लाॅक स्तर पर आयोजित किया जाए ताकि इन मेलों को गांव तक पहंुचा जा सके। उन्होंने बताया कि जिला मण्डी में जिला स्तर पर मनाया जाने वाला रेडक्राॅस मेला इस वर्ष सुदंरनगर उप-मण्डल में मनाया जाएगा। उन्होंने सभी सदस्यों से रेडक्राॅस से अधिक से अधिक सदस्य जोड़ने का आहवान भी किया। इस अवसर पर राज्य रेडक्राॅस सोसायटी की उपाध्यक्षा फिरोजा विजय सिंह, अवैतनिक सचिव पूनम चैहान, सोसायटी के महासचिव पी.एस. राणा व अन्य सदस्य उपस्थित थे।

दशहरा पर्व के दौरान महाआरती का आयोजन सराहनीय कदम,,,पुजारी कल्याण संघ

दशहरा पर्व के दौरान महाआरती का आयोजन सराहनीय कदम,,,पुजारी कल्याण संघ


-सभी देवी-देवताओं का होता है आरती में आह्वान
-पुजारी कल्याण संघ ने किया मुख्यमंत्री व वन मंत्री का आभार प्रकट
देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
देवी-देवताओं के महाकुंभ दशहरा पर्व के दौरान महाआरती का आयोजन सराहनीय कदम है। यह बात जिला पुजारी कल्याण संघ ने कही है। पुजारी कल्याण संघ के अध्यक्ष इंद्र देव शास्त्री व समस्त पदाधिकारियों ने कहा कि इस महा आरती में सभी देवी देवताओं का आह्वान होता है और विश्व शांति के लिए यह आरती वेहद फलदायी साबित होगी। पुजारी कल्याण संघ ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का आभार प्रकट करते हुए कहा कि उनके सहयोग से यह कार्य सफल हुआ है और देव संस्कृति को बढ़ावा मिला है। गौर रहे कि इस आरती का शुभारंभ गत दशहरा पर्व से हुआ था और पुजारी कल्याण संघ के अनुरोध पर दशहरा कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह ठाकुर ने इस आयोजन को हरी झंडी दी थी। उसके बाद एक जनवरी को मोहल में भव्य ब्यास आरती का भी आयोजन हुआ था और 161 विद्वानों ने इस आरती में भाग लिया था। पुजारी कल्याण संघ ने कहा है कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर देव संस्कृति को करीबी से जानते हैं और वे देव संस्कृति के ही बीच के हैं यही कारण है कि उन्होंने देव समाज के चारों स्तंभ कारदार संघ,पुजारी संघ,गुर संघ व बजयंत्री संघ को मजबूत किया है जिसके लिए हम उनके धन्यवाद करते हैं और उम्मीद ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि उनके नेतृत्व में देव समाज व देव संस्कृति मजबूत होगी। संघ ने कहा कि इस आरती में भगवान रघुनाथ जी के साथ-साथ सभी देवी-देवताओं का आह्वान किया जाता है जो विश्व शांति के लिए वेहद जरूरी है। संघ के अध्यक्ष इंद्र देव शास्त्री,उपाध्यक्ष धनीराम चौहान,महासचिव ईश्वरी दास शर्मा, कोषाध्यक्ष गुरदयाल शर्मा सहित तमाम सदस्यों ने सरकार से निवेदन किया है कि समय-समय पर देव सदन में देव संस्कृति पर शोध करने के लिए सहयोग प्रदान करें ताकि विलुप्त हो रही देव संस्कृति को जीवित रखा जा सके।


-सभी देवी-देवताओं का होता है आरती में आह्वान
-पुजारी कल्याण संघ ने किया मुख्यमंत्री व वन मंत्री का आभार प्रकट
देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
देवी-देवताओं के महाकुंभ दशहरा पर्व के दौरान महाआरती का आयोजन सराहनीय कदम है। यह बात जिला पुजारी कल्याण संघ ने कही है। पुजारी कल्याण संघ के अध्यक्ष इंद्र देव शास्त्री व समस्त पदाधिकारियों ने कहा कि इस महा आरती में सभी देवी देवताओं का आह्वान होता है और विश्व शांति के लिए यह आरती वेहद फलदायी साबित होगी। पुजारी कल्याण संघ ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का आभार प्रकट करते हुए कहा कि उनके सहयोग से यह कार्य सफल हुआ है और देव संस्कृति को बढ़ावा मिला है। गौर रहे कि इस आरती का शुभारंभ गत दशहरा पर्व से हुआ था और पुजारी कल्याण संघ के अनुरोध पर दशहरा कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह ठाकुर ने इस आयोजन को हरी झंडी दी थी। उसके बाद एक जनवरी को मोहल में भव्य ब्यास आरती का भी आयोजन हुआ था और 161 विद्वानों ने इस आरती में भाग लिया था। पुजारी कल्याण संघ ने कहा है कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर देव संस्कृति को करीबी से जानते हैं और वे देव संस्कृति के ही बीच के हैं यही कारण है कि उन्होंने देव समाज के चारों स्तंभ कारदार संघ,पुजारी संघ,गुर संघ व बजयंत्री संघ को मजबूत किया है जिसके लिए हम उनके धन्यवाद करते हैं और उम्मीद ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि उनके नेतृत्व में देव समाज व देव संस्कृति मजबूत होगी। संघ ने कहा कि इस आरती में भगवान रघुनाथ जी के साथ-साथ सभी देवी-देवताओं का आह्वान किया जाता है जो विश्व शांति के लिए वेहद जरूरी है। संघ के अध्यक्ष इंद्र देव शास्त्री,उपाध्यक्ष धनीराम चौहान,महासचिव ईश्वरी दास शर्मा, कोषाध्यक्ष गुरदयाल शर्मा सहित तमाम सदस्यों ने सरकार से निवेदन किया है कि समय-समय पर देव सदन में देव संस्कृति पर शोध करने के लिए सहयोग प्रदान करें ताकि विलुप्त हो रही देव संस्कृति को जीवित रखा जा सके।

हिमाचल प्रदेश विद्युत पेंशनर्स वेलफेयर ऐसोसिएशन कुल्लू इकाई की बैठक

हिमाचल प्रदेश विद्युत पेंशनर्स वेलफेयर ऐसोसिएशन कुल्लू इकाई की बैठक

  
देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
हिमाचल प्रदेश विद्युत पेंशनर्स वेलफेयर ऐसोसिएशन कुल्लू इकाई की बैठक  शुक्रबार 18 अक्टूबर को शाढ़ाबाई में आयोजित होगी। इस बैठक की अध्यक्षता ऐसोसिएशन के अध्यक्ष एस एल क्रोफा द्वारा की जाएगी। बैठक में पेंशनर्स के विभिन्न मुद्दों व समस्याओं पर विस्तृत चर्चा होगी। एसोसिएशन के प्रेस सचिव अजय शर्मा ने बताया कि बैठक में निजी एवं सामुहिक समस्याओं पर चर्चा होगी। उन्होंने सभी विद्युत पेंशनर्स से इस बैठक में बढ़चढ़ कर भाग लेने की अपील की है। 
  
देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
हिमाचल प्रदेश विद्युत पेंशनर्स वेलफेयर ऐसोसिएशन कुल्लू इकाई की बैठक  शुक्रबार 18 अक्टूबर को शाढ़ाबाई में आयोजित होगी। इस बैठक की अध्यक्षता ऐसोसिएशन के अध्यक्ष एस एल क्रोफा द्वारा की जाएगी। बैठक में पेंशनर्स के विभिन्न मुद्दों व समस्याओं पर विस्तृत चर्चा होगी। एसोसिएशन के प्रेस सचिव अजय शर्मा ने बताया कि बैठक में निजी एवं सामुहिक समस्याओं पर चर्चा होगी। उन्होंने सभी विद्युत पेंशनर्स से इस बैठक में बढ़चढ़ कर भाग लेने की अपील की है। 

वन मंत्री 18 को पतलीकूहल में करेंगे विकास कार्यों की समीक्षा

वन मंत्री 18 को पतलीकूहल में करेंगे विकास कार्यों की समीक्षा


देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू
वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर 18 अक्तूबर को पतलीकूहल स्थित विकास खंड कार्यालय में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करके विकास कार्यों की समीक्षा करेंगे। एसडीएम मनाली रमन घरसंगी ने मनाली विधानसभा क्षेत्र से संबंधित विभागीय अधिकारियों को इस बैठक में उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि बैठक के दौरान वन मंत्री विभिन्न विकास कार्यों एवं योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करेंगे।




देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू
वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर 18 अक्तूबर को पतलीकूहल स्थित विकास खंड कार्यालय में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करके विकास कार्यों की समीक्षा करेंगे। एसडीएम मनाली रमन घरसंगी ने मनाली विधानसभा क्षेत्र से संबंधित विभागीय अधिकारियों को इस बैठक में उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि बैठक के दौरान वन मंत्री विभिन्न विकास कार्यों एवं योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करेंगे।



22 को सभी सरकारी कार्यालयों-संस्थानों में होगी माॅक ड्रिल

22 को सभी सरकारी कार्यालयों-संस्थानों में होगी माॅक ड्रिल


देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू
आपदा प्रबंधन को लेकर आम लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से कुल्लू जिला में 15 से 30 अक्तूबर तक चलाए जा रहे विशेष अभियान समर्थ-2019 के तहत कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एडीएम अक्षय सूद ने बताया कि प्रदेश के अन्य जिलों में यह अभियान 11 अक्तूबर से आरंभ किया गया था लेकिन अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के कारण कुल्लू जिला में यह अभियान 15 अक्तूबर से शुरू किया गया। उन्होंने बताया कि समर्थ-2019 के तहत ही 22 अक्तूबर को सभी सरकारी कार्यालयों और शिक्षण संस्थानों में अग्निशमन एवं आग से बचाव पर माॅक ड्रिल करवाई जाएगी। होमगाड्र्स एवं अग्निशमन विभाग के सहयोग से आयोजित की जाने वाली इस माॅक ड्रिल में सभी विभागों और संस्थानों को अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। एडीएम ने कहा कि सभी सरकारी कार्यालय और संस्थान 22 अक्तूबर को अपने-अपने कार्यालय परिसरों में माॅक ड्रिल करें तथा इससे संबंधित फोटो एवं वीडियो जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को ई-मेल के माध्यम से 30 अक्तूबर तक भेजें। ये फोटो और वीडियो राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को अग्रेषित किए जाएंगे।


देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू
आपदा प्रबंधन को लेकर आम लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से कुल्लू जिला में 15 से 30 अक्तूबर तक चलाए जा रहे विशेष अभियान समर्थ-2019 के तहत कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एडीएम अक्षय सूद ने बताया कि प्रदेश के अन्य जिलों में यह अभियान 11 अक्तूबर से आरंभ किया गया था लेकिन अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव के कारण कुल्लू जिला में यह अभियान 15 अक्तूबर से शुरू किया गया। उन्होंने बताया कि समर्थ-2019 के तहत ही 22 अक्तूबर को सभी सरकारी कार्यालयों और शिक्षण संस्थानों में अग्निशमन एवं आग से बचाव पर माॅक ड्रिल करवाई जाएगी। होमगाड्र्स एवं अग्निशमन विभाग के सहयोग से आयोजित की जाने वाली इस माॅक ड्रिल में सभी विभागों और संस्थानों को अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। एडीएम ने कहा कि सभी सरकारी कार्यालय और संस्थान 22 अक्तूबर को अपने-अपने कार्यालय परिसरों में माॅक ड्रिल करें तथा इससे संबंधित फोटो एवं वीडियो जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को ई-मेल के माध्यम से 30 अक्तूबर तक भेजें। ये फोटो और वीडियो राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को अग्रेषित किए जाएंगे।

आपदा में सुरक्षा व बचाव के बारे लोगों ने ली जानकारियां

आपदा में सुरक्षा व बचाव के बारे लोगों ने ली जानकारियां


देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
भूकम्प, बाढ़, आगजनी, भूस्खलन आदि आपदाओं के समय बचाव और सुरक्षा को लेकर अंतराष्ट्रीय लोक नृत्य उत्सव कुल्लू दशहरे  के दौरान जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, कुल्लू द्वारा आम जनमानस को व्यापक रूप से जागरूक किया गया । यह जानकारी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के प्रशिक्षण एवं क्षमता निर्माण समन्वयक प्रशांत सिंह ने दी । उन्होंने बताया कि दशहरा उत्सव के दौरान प्रदर्शनी मैदान में सात दिनों तक विशेष स्टाल के माध्यम से जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों सहित अन्य लोगों को विभिन्न आपदाओं के समय सुरक्षित रहने तथा आवश्यक  बचाव के बारे में जागरूक करने हेतु प्रचार-सामग्री, पोस्टर आदि वितरित किए गए तथा आॅडियो-विडियों के माध्यम से भी लोगों को जागरूक किया गया । इस मौके पर बचाव कार्यों में उपयोग होने वाले उपकरणों को प्रदर्शित  भी किया गया । उन्होंने बताया कि ग्रामीण स्तर पर जागरूकता फैलाने तथा संदेश देने के लिए फोक मिडिया एक प्रभावशाली साधन है । अतः आपदा से बचाव बारे प्रत्येक दिन फोक मिडिया के माध्यम से नुक्कड़ नाटक तथा गीतों द्वारा लोगों को जागरूक भी किया गया, जिसका लोगों ने भरपूर फायदा उठाया । उन्होंने बताया कि 13 अक्तूबर को अंतर्राष्ट्रीय आपदा जोखिम न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर निरीक्षक छेरिंग के नेतृत्व में एन.डी.आर.एफ. की 7वीं बटालियन के 16 सदस्यों के दल ने एक विषेष अभियान के माध्यम से लोगों को विभिन्न आपदाओं के समय प्राथमिक बचाव तथा सुरक्षा बारे व्यापक रूप से जानकारी दी । इस अवसर पर लोगों की शंकाओं का समाधान भी किया गया। सात दिवसीय विशेष जागरूकता कार्यक्रम में कानूनगो सुन्दर सिंह ठाकुर, डाॅक्यूमेंटेषन समन्वयक राकेश  कुमार सहित आपदा प्रबंधन सैल के कर्मचारी दीपका, चुनी लाल, धीरज, दिले राम, शीला, हेम राज तथा सोहन भी उपस्थित थे।


देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू 
भूकम्प, बाढ़, आगजनी, भूस्खलन आदि आपदाओं के समय बचाव और सुरक्षा को लेकर अंतराष्ट्रीय लोक नृत्य उत्सव कुल्लू दशहरे  के दौरान जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, कुल्लू द्वारा आम जनमानस को व्यापक रूप से जागरूक किया गया । यह जानकारी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के प्रशिक्षण एवं क्षमता निर्माण समन्वयक प्रशांत सिंह ने दी । उन्होंने बताया कि दशहरा उत्सव के दौरान प्रदर्शनी मैदान में सात दिनों तक विशेष स्टाल के माध्यम से जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों सहित अन्य लोगों को विभिन्न आपदाओं के समय सुरक्षित रहने तथा आवश्यक  बचाव के बारे में जागरूक करने हेतु प्रचार-सामग्री, पोस्टर आदि वितरित किए गए तथा आॅडियो-विडियों के माध्यम से भी लोगों को जागरूक किया गया । इस मौके पर बचाव कार्यों में उपयोग होने वाले उपकरणों को प्रदर्शित  भी किया गया । उन्होंने बताया कि ग्रामीण स्तर पर जागरूकता फैलाने तथा संदेश देने के लिए फोक मिडिया एक प्रभावशाली साधन है । अतः आपदा से बचाव बारे प्रत्येक दिन फोक मिडिया के माध्यम से नुक्कड़ नाटक तथा गीतों द्वारा लोगों को जागरूक भी किया गया, जिसका लोगों ने भरपूर फायदा उठाया । उन्होंने बताया कि 13 अक्तूबर को अंतर्राष्ट्रीय आपदा जोखिम न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर निरीक्षक छेरिंग के नेतृत्व में एन.डी.आर.एफ. की 7वीं बटालियन के 16 सदस्यों के दल ने एक विषेष अभियान के माध्यम से लोगों को विभिन्न आपदाओं के समय प्राथमिक बचाव तथा सुरक्षा बारे व्यापक रूप से जानकारी दी । इस अवसर पर लोगों की शंकाओं का समाधान भी किया गया। सात दिवसीय विशेष जागरूकता कार्यक्रम में कानूनगो सुन्दर सिंह ठाकुर, डाॅक्यूमेंटेषन समन्वयक राकेश  कुमार सहित आपदा प्रबंधन सैल के कर्मचारी दीपका, चुनी लाल, धीरज, दिले राम, शीला, हेम राज तथा सोहन भी उपस्थित थे।

हिमाचल के धर्मशाला व पच्छाद के उप-चुनाव के लिए 21 अक्तूबर को राजपत्रित अवकाश घोषित

हिमाचल के धर्मशाला व पच्छाद के उप-चुनाव के लिए 21 अक्तूबर को राजपत्रित अवकाश घोषित


Devdarshan News/kangra
प्रदेश सरकार ने हिमाचल के केवल 18-धर्मशाला व 55-पच्छाद (अ.जा.) विधान सभाओं के पंजीकृत मतदाताओं के लिए 21 अक्तूबर, 2019 (सोमवार) को मतदान के दिन राजपत्रित अवकाश घोषित किया है। यह राजपत्रित अवकाश हिमाचल प्रदेश के 18-धर्मशाला व 55-पच्छाद के लिए वहां हो रहे उप-चुनावों के संदर्भ में घोषित किया गया है।
यह अवकाश हिमाचल प्रदेश में स्थित सभी सरकारी/गैर सरकारी कर्मचारियों और बोर्डनिगम व शैक्षणिक संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों एवं औद्योगिक इकाइयों में कार्यरतहिमाचल के पंजीकृत मतदाताओं को उनके मतदान के अधिकार का उपयोग करने के लिए किया गया है। यह अवकाश नैगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट 1881 की धारा-25 के अंतर्गत विशेष सवेतनिक अवकाश होगा तथा यह प्रावधान दैनिक भोगी कर्मचारियों के लिए भी लागू होगा।
यह विशेष सवेतनिक अवकाश प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारी भी ले सकेंगेजिनका उपरोक्त विधान सभाओं में वोट है। ऐसे कर्मचारियों को संबंधित पीठासीन अधिकारी से मतदान करने का प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा।  

Devdarshan News/kangra
प्रदेश सरकार ने हिमाचल के केवल 18-धर्मशाला व 55-पच्छाद (अ.जा.) विधान सभाओं के पंजीकृत मतदाताओं के लिए 21 अक्तूबर, 2019 (सोमवार) को मतदान के दिन राजपत्रित अवकाश घोषित किया है। यह राजपत्रित अवकाश हिमाचल प्रदेश के 18-धर्मशाला व 55-पच्छाद के लिए वहां हो रहे उप-चुनावों के संदर्भ में घोषित किया गया है।
यह अवकाश हिमाचल प्रदेश में स्थित सभी सरकारी/गैर सरकारी कर्मचारियों और बोर्डनिगम व शैक्षणिक संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों एवं औद्योगिक इकाइयों में कार्यरतहिमाचल के पंजीकृत मतदाताओं को उनके मतदान के अधिकार का उपयोग करने के लिए किया गया है। यह अवकाश नैगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट 1881 की धारा-25 के अंतर्गत विशेष सवेतनिक अवकाश होगा तथा यह प्रावधान दैनिक भोगी कर्मचारियों के लिए भी लागू होगा।
यह विशेष सवेतनिक अवकाश प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारी भी ले सकेंगेजिनका उपरोक्त विधान सभाओं में वोट है। ऐसे कर्मचारियों को संबंधित पीठासीन अधिकारी से मतदान करने का प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा।  

वन मंत्री ने सफाई अभियान में भाग लेकर लोगों को दिया स्वच्छता का संदेश

वन मंत्री ने सफाई अभियान में भाग लेकर लोगों को दिया स्वच्छता का संदेश


Devdarshan News

वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज ऐतिहासिक ढालपुर मैदान में जिला प्रशासन व नगर निगम द्वारा आयोजित स्वच्छता अभियान में भाग लिया। वन मंत्री अभियान में भाग लेने से पहले रास्ते में स्वच्छता का जायजा लेने के लिए परिधि गृह से पैदल रथ मैदान पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले झाडू उठाकर साफ-सफाई करनी आरंभ कर दी जिसे देखकर मौके पर मौजूद सभी अधिकारियों, कर्मचारियों व नगर परिषद के कर्मियों ने भी मैदान में पड़ा कचरा हटाना शुरू कर दिया।
उपायुक्त डाॅ. ऋचा वर्मा ने सारे कार्यों को छोड़ स्वच्छता को प्राथमिकता देते हुए झाडू उठा लिया और पूरी तत्परता के साथ सभी लोगों के साथ साफ-सफाई करती नजर आई।
गोविंद सिंह ठाकुर ने रथ मैदान से सफाई अभियान की शुरूआत करते हुए प्रदर्शनी मैदान तथा मुख्य मैदान में जगह-जगह पर पड़े कचरे को न केवल झाडू से बल्कि हाथों से बे-झिझक साफ किया। मंत्री को साफ-सफाई करते देख उत्सव में आए हजारों लोग उन्हें निहारते रहे और स्वच्छता में भाग लेने के लिए उत्सुक दिखें और कुछ लोग तो साफ सफाई भी करने लग गए। दशहरा उत्सव में लोगों के लिए स्वच्छता का यह एक प्रभावी संदेश था। गौरतलब है कि उत्सव में बहुत बड़े पैमाने पर लोग खरीदो-फरोख्त करते हैं और ऐसे में ढालपुर मैदान में कचरा फैलना स्वाभाविक है। इसी के दृष्टिगत स्वच्छता अभियान को प्रभावी ढंग से चलाया गया है।
वन मंत्री जो दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष भी हैं, ने कहा कि इस बार उत्सव के दौरान कचरा न फैले इसके लिए समुचित व्यवस्था की गई है। सभी दुकानदारों को प्लास्टिक का प्रयोग न करने के संबंध में प्रशिक्षित किया गया है। गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग करके नगर निगम के कर्मियों को सौंपने के लिए निर्देश दिए गए हैं। सभी लोगों से भी अपील की गई है कि वे अनावश्यक कचरा न फैलाएं और कूड़ा केवल डस्टबिन में ही डालें। उन्होंने कहा कि 60 से अधिक वालन्टियरों को भी ढालपुर मैदान में स्वच्छता पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया है। इसके अलावा 100 से अधिक सफाई कर्मियों को केवल ढालपुर के मैदानों की सफाई के लिए लगाया गया है।
गोविंद ठाकुर ने कहा कि उत्सव के दौरान थर्मोकोल के कप प्लेटों व प्लास्टिक के गिलास व अन्य वस्तुओं के प्रयोग पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है और दोषी पाए जाने पर जुर्माना लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी खाद्य स्टाॅलों में स्टील के वर्तन अथवा हरे पत्तों की पतलों का प्रयोग किया जा रहा है। इस बार दशहरा उत्सव में सफाई की व्यवस्था काफी अच्छी और संतोषजनक है। इसके लिए उन्होंने नगर परिषद की सराहना की। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से भी प्लास्टिक का प्रयोग न करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों को सभी गांवों में कचरे का उपयुक्त निष्पादन सुनिश्चित बनाना चाहिए।
वन मंत्री ने कहा कि दशहरा उत्सव समिति और नगर परिषद की ओर से 300 सफाई कर्मियों को उपहार प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने वन विभाग व ग्रामीण विकास विभाग को जल्द से डम्पिग साईट की तलाश करने को कहा ताकि कचरे का सही निदान सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने आम जनमानस से अपील की कि अपने घर की तरह अपने आस-पास को भी स्वच्छ रखें। इससे जहां पर्यावरण बचेगा वहीं बीमारियों से भी बचा जा सकेगा।
स्वच्छता अभियान में नगर निगम के उपाध्यक्ष गोपाल कृष्ण महंत, पार्षदगण, अधिकारीगण तथा सफाई कर्मचारियों ने भाग लिया।

Devdarshan News

वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज ऐतिहासिक ढालपुर मैदान में जिला प्रशासन व नगर निगम द्वारा आयोजित स्वच्छता अभियान में भाग लिया। वन मंत्री अभियान में भाग लेने से पहले रास्ते में स्वच्छता का जायजा लेने के लिए परिधि गृह से पैदल रथ मैदान पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले झाडू उठाकर साफ-सफाई करनी आरंभ कर दी जिसे देखकर मौके पर मौजूद सभी अधिकारियों, कर्मचारियों व नगर परिषद के कर्मियों ने भी मैदान में पड़ा कचरा हटाना शुरू कर दिया।
उपायुक्त डाॅ. ऋचा वर्मा ने सारे कार्यों को छोड़ स्वच्छता को प्राथमिकता देते हुए झाडू उठा लिया और पूरी तत्परता के साथ सभी लोगों के साथ साफ-सफाई करती नजर आई।
गोविंद सिंह ठाकुर ने रथ मैदान से सफाई अभियान की शुरूआत करते हुए प्रदर्शनी मैदान तथा मुख्य मैदान में जगह-जगह पर पड़े कचरे को न केवल झाडू से बल्कि हाथों से बे-झिझक साफ किया। मंत्री को साफ-सफाई करते देख उत्सव में आए हजारों लोग उन्हें निहारते रहे और स्वच्छता में भाग लेने के लिए उत्सुक दिखें और कुछ लोग तो साफ सफाई भी करने लग गए। दशहरा उत्सव में लोगों के लिए स्वच्छता का यह एक प्रभावी संदेश था। गौरतलब है कि उत्सव में बहुत बड़े पैमाने पर लोग खरीदो-फरोख्त करते हैं और ऐसे में ढालपुर मैदान में कचरा फैलना स्वाभाविक है। इसी के दृष्टिगत स्वच्छता अभियान को प्रभावी ढंग से चलाया गया है।
वन मंत्री जो दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष भी हैं, ने कहा कि इस बार उत्सव के दौरान कचरा न फैले इसके लिए समुचित व्यवस्था की गई है। सभी दुकानदारों को प्लास्टिक का प्रयोग न करने के संबंध में प्रशिक्षित किया गया है। गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग करके नगर निगम के कर्मियों को सौंपने के लिए निर्देश दिए गए हैं। सभी लोगों से भी अपील की गई है कि वे अनावश्यक कचरा न फैलाएं और कूड़ा केवल डस्टबिन में ही डालें। उन्होंने कहा कि 60 से अधिक वालन्टियरों को भी ढालपुर मैदान में स्वच्छता पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया है। इसके अलावा 100 से अधिक सफाई कर्मियों को केवल ढालपुर के मैदानों की सफाई के लिए लगाया गया है।
गोविंद ठाकुर ने कहा कि उत्सव के दौरान थर्मोकोल के कप प्लेटों व प्लास्टिक के गिलास व अन्य वस्तुओं के प्रयोग पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है और दोषी पाए जाने पर जुर्माना लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी खाद्य स्टाॅलों में स्टील के वर्तन अथवा हरे पत्तों की पतलों का प्रयोग किया जा रहा है। इस बार दशहरा उत्सव में सफाई की व्यवस्था काफी अच्छी और संतोषजनक है। इसके लिए उन्होंने नगर परिषद की सराहना की। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से भी प्लास्टिक का प्रयोग न करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों को सभी गांवों में कचरे का उपयुक्त निष्पादन सुनिश्चित बनाना चाहिए।
वन मंत्री ने कहा कि दशहरा उत्सव समिति और नगर परिषद की ओर से 300 सफाई कर्मियों को उपहार प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने वन विभाग व ग्रामीण विकास विभाग को जल्द से डम्पिग साईट की तलाश करने को कहा ताकि कचरे का सही निदान सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने आम जनमानस से अपील की कि अपने घर की तरह अपने आस-पास को भी स्वच्छ रखें। इससे जहां पर्यावरण बचेगा वहीं बीमारियों से भी बचा जा सकेगा।
स्वच्छता अभियान में नगर निगम के उपाध्यक्ष गोपाल कृष्ण महंत, पार्षदगण, अधिकारीगण तथा सफाई कर्मचारियों ने भाग लिया।

राज्यपाल द्वारा पोर्टमोर स्कूल का औचक निरीक्षण

राज्यपाल द्वारा पोर्टमोर स्कूल का औचक निरीक्षण



 Devdarshan News/Shimla
छात्राओं को पढ़ाया परिश्रमअनुशासनसंस्कार और देशभक्ति का पाठ
राज्यपाल स्कूल की कक्षा जमा एक में जाते हैं। इतिहास की कक्षा में छात्राओं के साथ बैठकर संबंधित विषय पर चर्चा होती है और फिर सामान्य प्रश्न-उत्तर। छात्राओं के लिए यह अनुभव कुछ हटकर था कि राज्यपाल उनकी कक्षा में आकर एक अध्यापक की तरह उन्हें पढ़ाने लगते हैं। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पोर्टमोर का औचक निरीक्षण किया। उनके जाने की जानकारी न तो स्कूल प्रशासन को थी और न ही राज्यपाल के काफिले को। प्रधानचार्य अवकाश पर थे। राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर भी उनके साथ थे। राज्यपाल सीधे जमा दो कक्षा में गए और छात्राओं से जानकारी लेनी शुरू की। चूंकियह इतिहास की कक्षा थीइसलिए प्रश्न भी इतिहास से संबंधित थे। विषय से हटकर उन्होंने स्कूल की सांस्कृतिक गतिविधियों एवं खेल गतिविधियों की जानकारी भी ली। मानव उत्पत्ति से लेकर दुनिया एक गांव जैसे पूछे गए प्रश्नों का छात्राओं ने बेबाकी से उत्तर दिया। कक्षा की छात्रा प्रियंका ने खुशबू के पल कहां ढूंढूं’ गीत गाकर राज्यपाल का स्वागत किया। इसके पश्चात्वह जमा एक (विज्ञान) की कक्षा में भी गए।

श्री दत्तात्रेय ने छात्राओं को परिश्रमअनुशासनसंस्कार और देशभक्ति को जीवन में अपनाकर सफलता का मंत्र दिया। उन्होंने बच्चों को महात्मा गांधीस्वामी विवेकानंद और पूर्व राष्ट्रपति श्री अब्दुल कलाम की जीवनी पढ़ने को कहा। उन्होंने कहा कि हम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती को स्वच्छता की सेवा के रूप में मना रहे हैं। स्वच्छता के बाद प्रधानमंत्री ने देश को प्लास्टिक मुक्त बनाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि हर छात्रा देश के लिए कोई भी कार्य निर्धारित करे और उसपर अमल करे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता को तनमन और बुद्धि की स्वच्छता से भी जोड़ें। उन्होंने छात्राओं से प्रातः जल्दी उठकर योग करने की भी सलाह दी।

एक छात्रा हर्षिता ने राज्यपाल से उनके स्कूली जीवन के बारे में पूछा। इसके अलावादिशाशिवानीदिव्या इत्यादि छात्राओं ने कई प्रश्न किए और अपनी समस्याएं भी बताईं। इनमें ज्यादातर छात्राओं ने बताया कि वह टुटूमल्याणासंजौलीशोघी व ठियोग से यहां पढ़ने आती हैं। उन्हें सरकारी बस सुविधा की कमी है। कुछ ने शौचालयों के बेहतर रखरखाव की बात कही।

राज्यपाल ने छात्रावास और लाईब्रेरी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने छात्रावासों को हवादार बनाने के निर्देश दिए।
 निरीक्षण के पश्चात्राज्यपाल ने स्कूल की छात्राओं को संबोधित भी किया। उन्होंने इस अवसर पर स्कूल को विभिन्न गतिविधियों के लिए पांच लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कि जो बच्चा निजी स्कूलों के मुकाबले परीक्षा परिणाम में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगा उसे एक लाख रुपये का पुरस्कार भी दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आज लड़कियां विकास के हर क्षेत्र में अग्रणी हैं। उन्होंने कहा कि उनका यहां आने का उद्देश्य केवल बच्चों से बातचीत करना और उनके विचारों को जानना है। उन्होंने कहा कि वह स्कूली बच्चों से बातचीत का यह सिलसिला भविष्य में भी जारी रखेंगे।
 स्कूल की छात्राओं वैदिकारजनी और आयशा ने इस अवसर पर अपनी प्रस्तुति भी दी।


 Devdarshan News/Shimla
छात्राओं को पढ़ाया परिश्रमअनुशासनसंस्कार और देशभक्ति का पाठ
राज्यपाल स्कूल की कक्षा जमा एक में जाते हैं। इतिहास की कक्षा में छात्राओं के साथ बैठकर संबंधित विषय पर चर्चा होती है और फिर सामान्य प्रश्न-उत्तर। छात्राओं के लिए यह अनुभव कुछ हटकर था कि राज्यपाल उनकी कक्षा में आकर एक अध्यापक की तरह उन्हें पढ़ाने लगते हैं। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पोर्टमोर का औचक निरीक्षण किया। उनके जाने की जानकारी न तो स्कूल प्रशासन को थी और न ही राज्यपाल के काफिले को। प्रधानचार्य अवकाश पर थे। राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर भी उनके साथ थे। राज्यपाल सीधे जमा दो कक्षा में गए और छात्राओं से जानकारी लेनी शुरू की। चूंकियह इतिहास की कक्षा थीइसलिए प्रश्न भी इतिहास से संबंधित थे। विषय से हटकर उन्होंने स्कूल की सांस्कृतिक गतिविधियों एवं खेल गतिविधियों की जानकारी भी ली। मानव उत्पत्ति से लेकर दुनिया एक गांव जैसे पूछे गए प्रश्नों का छात्राओं ने बेबाकी से उत्तर दिया। कक्षा की छात्रा प्रियंका ने खुशबू के पल कहां ढूंढूं’ गीत गाकर राज्यपाल का स्वागत किया। इसके पश्चात्वह जमा एक (विज्ञान) की कक्षा में भी गए।

श्री दत्तात्रेय ने छात्राओं को परिश्रमअनुशासनसंस्कार और देशभक्ति को जीवन में अपनाकर सफलता का मंत्र दिया। उन्होंने बच्चों को महात्मा गांधीस्वामी विवेकानंद और पूर्व राष्ट्रपति श्री अब्दुल कलाम की जीवनी पढ़ने को कहा। उन्होंने कहा कि हम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती को स्वच्छता की सेवा के रूप में मना रहे हैं। स्वच्छता के बाद प्रधानमंत्री ने देश को प्लास्टिक मुक्त बनाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि हर छात्रा देश के लिए कोई भी कार्य निर्धारित करे और उसपर अमल करे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता को तनमन और बुद्धि की स्वच्छता से भी जोड़ें। उन्होंने छात्राओं से प्रातः जल्दी उठकर योग करने की भी सलाह दी।

एक छात्रा हर्षिता ने राज्यपाल से उनके स्कूली जीवन के बारे में पूछा। इसके अलावादिशाशिवानीदिव्या इत्यादि छात्राओं ने कई प्रश्न किए और अपनी समस्याएं भी बताईं। इनमें ज्यादातर छात्राओं ने बताया कि वह टुटूमल्याणासंजौलीशोघी व ठियोग से यहां पढ़ने आती हैं। उन्हें सरकारी बस सुविधा की कमी है। कुछ ने शौचालयों के बेहतर रखरखाव की बात कही।

राज्यपाल ने छात्रावास और लाईब्रेरी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने छात्रावासों को हवादार बनाने के निर्देश दिए।
 निरीक्षण के पश्चात्राज्यपाल ने स्कूल की छात्राओं को संबोधित भी किया। उन्होंने इस अवसर पर स्कूल को विभिन्न गतिविधियों के लिए पांच लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कि जो बच्चा निजी स्कूलों के मुकाबले परीक्षा परिणाम में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगा उसे एक लाख रुपये का पुरस्कार भी दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आज लड़कियां विकास के हर क्षेत्र में अग्रणी हैं। उन्होंने कहा कि उनका यहां आने का उद्देश्य केवल बच्चों से बातचीत करना और उनके विचारों को जानना है। उन्होंने कहा कि वह स्कूली बच्चों से बातचीत का यह सिलसिला भविष्य में भी जारी रखेंगे।
 स्कूल की छात्राओं वैदिकारजनी और आयशा ने इस अवसर पर अपनी प्रस्तुति भी दी।

मुख्य न्यायाधीश लिंगप्पा नारायण स्वामी के स्वागत में फुल कोर्ट रेफरेंस आयोजित

मुख्य न्यायाधीश लिंगप्पा नारायण स्वामी के स्वागत में फुल कोर्ट रेफरेंस आयोजित


Devdarshan News/Shimla
हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के नए मुख्य न्यायाधीश लिंगप्पा नारायण स्वामी के स्वागत में आज उच्च न्यायालय में फुल कोर्ट रेफरेंस का आयोजन किया गया। उन्होंने 6 अक्तूबर, 2019 को हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में 25वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदभार संभाला था। 

कार्यवाही का संचालन रजिस्ट्रार जनरल वीरेन्द्र सिंह ने किया।

इस अवसर पर न्यायमूर्ति एल. नारायण स्वामी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश का पदभार ग्रहण करने पर वह अत्याधिक प्रसन्न व गौरवान्वित महसूस कर हैं क्योंकि यहां के लोग ईमानदारसरल तथा भगवान से डरने वाले हैं। 

उन्होंने कहा कि न्यायपालिका देश के साथ-साथ प्रदेश में भी लोगों को न्याय दिलवाने तथा उनके अधिकारों की सुरक्षा में अहम् भूमिका निभाती है। इसलिए भारत के संविधान के तहत कानून और हमारी राजनीति के लोकतांत्रिक आधार को संरक्षित करने के लिए न्यायपालिका को निचले स्तर से ही मजबूत और सुव्यवस्थित किया जाना चाहिए।

मुख्य न्यायाधीश ने आश्वासन दिया कि उक्त तथ्यों तथा उच्च न्यायालय के लम्बित मामलों के साथ-साथ प्रदेश में निचली न्यायपालिका को ध्यान मंे रखते हुए वह न्यायिक प्रणाली को मजबूत बनाने और सुव्यवस्थित करने के लिए सभी संभव प्रयास करेंगे।

उन्होंने कहा कि वह अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए बार एसोसिएशन और उच्च न्यायालय के कर्मचारियों से पूर्ण सहयोग और समन्वय की अपेक्षा करते हैं ताकि अदालत में आने वाले लोग संतुष्ट होकर जाएं। 

न्यायमूर्ति धर्म चन्द चैधरी ने एल. नारायण स्वामी के न्यायालय में पहले दिन पर उनका स्वागत तथा अभिनंदन किया और कहा कि न्यायमूर्ति नारायण स्वामी निष्पक्ष और निडर होकर निर्णय देते हैं तथा वह न्यायाधीश के रूप में गहरा और विविध अनुभव रखते हैं। उनके दृढ़ निश्चयगतिशील दूरदर्शिताप्रशासनिक योग्यताविविध अनुभव के साथ राज्य न्यायपालिका अधिक ऊंचाइयों और उपलब्धियों को प्राप्त करेगी।

महा अधिवक्ता अशोक शर्माबार काउंसिल के अध्यक्ष रमाकांत शर्माहिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय बार एसोसिशन के अध्यक्ष एन.एस. चन्देल तथा भारत के अतिरिक्त साॅलिसिटर जनरल राजेश शर्मा ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखे।

न्यायमूर्ति तरलोक सिंह चैहानन्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुरन्यायमूर्ति विवेक सिंह ठाकुरन्यायमूर्ति अजय मोहन गोयलन्यायमूर्ति संदीप शर्मान्यायमूर्ति चंदर भूषण बारोवालियान्यायमूर्ति अनूप चितकारा और न्यायमूर्ति ज्योत्सना रिवाल दुआहिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश कुलदीप सिंहन्यायमूर्ति डी.डी. सूदन्यायमूर्ति वी.के. शर्माहिमाचल प्रदेश उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति पी.एस. राणा भी इस अवसर पर उपस्थित थे।                   

Devdarshan News/Shimla
हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के नए मुख्य न्यायाधीश लिंगप्पा नारायण स्वामी के स्वागत में आज उच्च न्यायालय में फुल कोर्ट रेफरेंस का आयोजन किया गया। उन्होंने 6 अक्तूबर, 2019 को हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में 25वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदभार संभाला था। 

कार्यवाही का संचालन रजिस्ट्रार जनरल वीरेन्द्र सिंह ने किया।

इस अवसर पर न्यायमूर्ति एल. नारायण स्वामी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश का पदभार ग्रहण करने पर वह अत्याधिक प्रसन्न व गौरवान्वित महसूस कर हैं क्योंकि यहां के लोग ईमानदारसरल तथा भगवान से डरने वाले हैं। 

उन्होंने कहा कि न्यायपालिका देश के साथ-साथ प्रदेश में भी लोगों को न्याय दिलवाने तथा उनके अधिकारों की सुरक्षा में अहम् भूमिका निभाती है। इसलिए भारत के संविधान के तहत कानून और हमारी राजनीति के लोकतांत्रिक आधार को संरक्षित करने के लिए न्यायपालिका को निचले स्तर से ही मजबूत और सुव्यवस्थित किया जाना चाहिए।

मुख्य न्यायाधीश ने आश्वासन दिया कि उक्त तथ्यों तथा उच्च न्यायालय के लम्बित मामलों के साथ-साथ प्रदेश में निचली न्यायपालिका को ध्यान मंे रखते हुए वह न्यायिक प्रणाली को मजबूत बनाने और सुव्यवस्थित करने के लिए सभी संभव प्रयास करेंगे।

उन्होंने कहा कि वह अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए बार एसोसिएशन और उच्च न्यायालय के कर्मचारियों से पूर्ण सहयोग और समन्वय की अपेक्षा करते हैं ताकि अदालत में आने वाले लोग संतुष्ट होकर जाएं। 

न्यायमूर्ति धर्म चन्द चैधरी ने एल. नारायण स्वामी के न्यायालय में पहले दिन पर उनका स्वागत तथा अभिनंदन किया और कहा कि न्यायमूर्ति नारायण स्वामी निष्पक्ष और निडर होकर निर्णय देते हैं तथा वह न्यायाधीश के रूप में गहरा और विविध अनुभव रखते हैं। उनके दृढ़ निश्चयगतिशील दूरदर्शिताप्रशासनिक योग्यताविविध अनुभव के साथ राज्य न्यायपालिका अधिक ऊंचाइयों और उपलब्धियों को प्राप्त करेगी।

महा अधिवक्ता अशोक शर्माबार काउंसिल के अध्यक्ष रमाकांत शर्माहिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय बार एसोसिशन के अध्यक्ष एन.एस. चन्देल तथा भारत के अतिरिक्त साॅलिसिटर जनरल राजेश शर्मा ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखे।

न्यायमूर्ति तरलोक सिंह चैहानन्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुरन्यायमूर्ति विवेक सिंह ठाकुरन्यायमूर्ति अजय मोहन गोयलन्यायमूर्ति संदीप शर्मान्यायमूर्ति चंदर भूषण बारोवालियान्यायमूर्ति अनूप चितकारा और न्यायमूर्ति ज्योत्सना रिवाल दुआहिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश कुलदीप सिंहन्यायमूर्ति डी.डी. सूदन्यायमूर्ति वी.के. शर्माहिमाचल प्रदेश उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति पी.एस. राणा भी इस अवसर पर उपस्थित थे।                   

281 देवी-देवताओं के नज़राने में वृद्धि की घोषणा

281 देवी-देवताओं के नज़राने में वृद्धि की घोषणा



·         सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न
 Tara chan Tharmani 
सप्ताह भर चलने वाला अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा आज हर्षोल्लास के साथ समाप्त हो गया। कुल्लू ज़िला के विभिन्न भागों से आए 281 देवी-देवताओं ने इस सांस्कृतिक उत्सव में भाग लिया।
 मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने लाल चन्द प्रार्थी कलाकेन्द्र कुल्लू में समापन समारोह की अध्यक्षता करते हुएकुल्लू दशहरा में भाग लेने वाले स्थानीय देवी-देवताओं के नज़राने को पांच प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा की। उन्होंने देवताओं के दूरी भत्ता को 25 प्रतिशत बढ़ाने की भी घोषणा की।
 उन्होंने उत्सव में भाग लेने वाले देवताओं के साथ आए बजंतरियों के पारिश्रमिक को 15 प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा की तथा हरिपुर व मणिकर्ण दशहरा आयोजन राशि को 75 हजार से एक लाख रुपयेवशिष्ठ दशहरा उत्सव मनाने की राशि 50 हजार से बढ़ाकर 75 हजार रुपये किया है। उन्होंने कहा कि देवताओं के गुर’ को अलग से एक हजार रुपये की अतिरिक्त राशि दी जाएगी।
 मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देवभूमि के नाम से प्रसिद्ध है और प्रत्येक उत्सव में प्रदेश के लोग देवताओं के प्रति अपनी गहरी आस्था रखते हैं तथा देवताओं के आशीर्वाद के बिना प्रदेश के लोगों का जीवन अधूरा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोग यहां की समृद्ध संस्कृति और रीति-रिवाजों को संजोए रखने के लिए बधाई के पात्र हैं। वर्तमान समय में पूरा विश्व एक वैश्विक गांव में बदल गया है तथा ऐसी स्थिति में भविष्य में पुरातन संस्कृति को संजोए रखना वास्तव में प्रशंसनीय है।
 जय राम ठाकुर ने कहा कि दशहरा उत्सव स्थानीय लोगों को आजीविका उपलब्ध करवाने का अवसर प्रदान करता है और उन्हें अपने उत्पादों को प्रदर्शित करवाने के लिए एक मंच भी प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि कुल्लू दशहरा के इस सांस्कृतिक उत्सव को देखने के लिए विश्वभर से पर्यटक आते हैं तथा इससे पर्यटन को व्यापक बढ़ावा मिल  रहा है।
 मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का यह प्रयास है कि कुल्लू दशहरा में कुछ नए आकर्षणों को जोड़ने के साथ-साथ इसके परम्परागत रूप को भी जीवित रखा जाए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आरम्भ किए गए जल जीवन अभियान के अंतर्गत कुल्लू ज़िला में 32 परियोजनाओं को स्वीकृति प्राप्त हो चुकी हैजिस पर 160 करोड़ रुपये व्यय किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कुल्लू क्षेत्र में किए जाने वाले सार्वजनिक कार्यों के लिए 38 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि सुन्दरनगर से मनाली के बीच बनने वाले फोरलेन के कार्य को एक वर्ष के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। जय राम ठाकुर ने कहा कि रोहतांग सुरंग को समय पर पूरा करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिजली महादेव और रोहतांग सुरंग तक रोपवे बनाने के प्रयास जारी हैं।
 मुख्यमंत्री ने लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों को भारी बहुमत से प्रदेश में विजय दिलाने के लिए प्रदेशवासियों का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों में जीत हासिल कर एक कीर्तिमान स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भाजपा का मत प्रतिशत प्रदेश में सर्वाधिक था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अनुच्छेद 370 को हटाकर एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है जो घाटी में आतंकवाद फैलने व राष्ट्र विरोधी गतिविधियों का मुख्य कारण था। उन्होंने  कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर में विकास तथा समृद्धि के नये युग का आरंभ होगा। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित विभिन्न गतिविधियों के विजेताओं को पुरस्कार भी वितरित किए। मुख्यमंत्री ने दशहरा आयोजन समिति द्वारा प्रकाशित स्मारिका का विमोचन भी किया। उन्होंने राज्य भाषा एवं संस्कृति अकादमी द्वारा प्रकाशित पुस्तिका गैलेंटरी सागा-बीआरओ’ पर वृतचित्र के पोस्टर तथा कुल्लू संस्कृति विकास मंच द्वारा अटल स्मृतियां’ नामक स्मारिका का भी विमोचन किया।
 मुख्यमंत्री को वास्तुकार एवं पारंपरिक कथकुनी घर निर्माता विशेषज्ञ युवा लेखक राहुल भूषण द्वारा इंडिजेनियस प्रेक्टिस सिस्टम इन वैस्ट्रन हिमालयाज़’ पर तुलनात्मक अध्ययन से संबंधित पुस्तक भी भेंट की गई।


·         सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न
 Tara chan Tharmani 
सप्ताह भर चलने वाला अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा आज हर्षोल्लास के साथ समाप्त हो गया। कुल्लू ज़िला के विभिन्न भागों से आए 281 देवी-देवताओं ने इस सांस्कृतिक उत्सव में भाग लिया।
 मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने लाल चन्द प्रार्थी कलाकेन्द्र कुल्लू में समापन समारोह की अध्यक्षता करते हुएकुल्लू दशहरा में भाग लेने वाले स्थानीय देवी-देवताओं के नज़राने को पांच प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा की। उन्होंने देवताओं के दूरी भत्ता को 25 प्रतिशत बढ़ाने की भी घोषणा की।
 उन्होंने उत्सव में भाग लेने वाले देवताओं के साथ आए बजंतरियों के पारिश्रमिक को 15 प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा की तथा हरिपुर व मणिकर्ण दशहरा आयोजन राशि को 75 हजार से एक लाख रुपयेवशिष्ठ दशहरा उत्सव मनाने की राशि 50 हजार से बढ़ाकर 75 हजार रुपये किया है। उन्होंने कहा कि देवताओं के गुर’ को अलग से एक हजार रुपये की अतिरिक्त राशि दी जाएगी।
 मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देवभूमि के नाम से प्रसिद्ध है और प्रत्येक उत्सव में प्रदेश के लोग देवताओं के प्रति अपनी गहरी आस्था रखते हैं तथा देवताओं के आशीर्वाद के बिना प्रदेश के लोगों का जीवन अधूरा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोग यहां की समृद्ध संस्कृति और रीति-रिवाजों को संजोए रखने के लिए बधाई के पात्र हैं। वर्तमान समय में पूरा विश्व एक वैश्विक गांव में बदल गया है तथा ऐसी स्थिति में भविष्य में पुरातन संस्कृति को संजोए रखना वास्तव में प्रशंसनीय है।
 जय राम ठाकुर ने कहा कि दशहरा उत्सव स्थानीय लोगों को आजीविका उपलब्ध करवाने का अवसर प्रदान करता है और उन्हें अपने उत्पादों को प्रदर्शित करवाने के लिए एक मंच भी प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि कुल्लू दशहरा के इस सांस्कृतिक उत्सव को देखने के लिए विश्वभर से पर्यटक आते हैं तथा इससे पर्यटन को व्यापक बढ़ावा मिल  रहा है।
 मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का यह प्रयास है कि कुल्लू दशहरा में कुछ नए आकर्षणों को जोड़ने के साथ-साथ इसके परम्परागत रूप को भी जीवित रखा जाए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आरम्भ किए गए जल जीवन अभियान के अंतर्गत कुल्लू ज़िला में 32 परियोजनाओं को स्वीकृति प्राप्त हो चुकी हैजिस पर 160 करोड़ रुपये व्यय किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कुल्लू क्षेत्र में किए जाने वाले सार्वजनिक कार्यों के लिए 38 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि सुन्दरनगर से मनाली के बीच बनने वाले फोरलेन के कार्य को एक वर्ष के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। जय राम ठाकुर ने कहा कि रोहतांग सुरंग को समय पर पूरा करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिजली महादेव और रोहतांग सुरंग तक रोपवे बनाने के प्रयास जारी हैं।
 मुख्यमंत्री ने लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों को भारी बहुमत से प्रदेश में विजय दिलाने के लिए प्रदेशवासियों का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों में जीत हासिल कर एक कीर्तिमान स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भाजपा का मत प्रतिशत प्रदेश में सर्वाधिक था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अनुच्छेद 370 को हटाकर एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है जो घाटी में आतंकवाद फैलने व राष्ट्र विरोधी गतिविधियों का मुख्य कारण था। उन्होंने  कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर में विकास तथा समृद्धि के नये युग का आरंभ होगा। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित विभिन्न गतिविधियों के विजेताओं को पुरस्कार भी वितरित किए। मुख्यमंत्री ने दशहरा आयोजन समिति द्वारा प्रकाशित स्मारिका का विमोचन भी किया। उन्होंने राज्य भाषा एवं संस्कृति अकादमी द्वारा प्रकाशित पुस्तिका गैलेंटरी सागा-बीआरओ’ पर वृतचित्र के पोस्टर तथा कुल्लू संस्कृति विकास मंच द्वारा अटल स्मृतियां’ नामक स्मारिका का भी विमोचन किया।
 मुख्यमंत्री को वास्तुकार एवं पारंपरिक कथकुनी घर निर्माता विशेषज्ञ युवा लेखक राहुल भूषण द्वारा इंडिजेनियस प्रेक्टिस सिस्टम इन वैस्ट्रन हिमालयाज़’ पर तुलनात्मक अध्ययन से संबंधित पुस्तक भी भेंट की गई।

Devdarshan

Blog Archive

Pages

Most Recent News

कुल्लू में मीडिया विश्राम कक्ष का उदघाटन

-नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन देगा पत्रकारों को सुविधा देवदर्शन न्यूज़ कुल्लू पत्रकारों की सुविधा के लिए जहां प्रेस क्लब भवन बनकर तैय...

Popular News

Random News

randomposts/style

Like Us

fb/https://www.facebook.com/devdarshanmedia/